धोनी का करियर ख़त्म ?

World Cup

क्यों छोड़ा धोनीने अपना पद और क्या वो आगे खेलेंगे या नहीं?

टीम इंडिया के सबसे सफ़ल कप्तानो में से एक महेंद्र सिंह धोनी ने वन-डे और T-20 की कप्तानी छोड़ दी है. BCCI ने ट्विटकर इस बात की जानकारी दी. धोनी इंग्लैंड के खिलाफ होनेवाले one-day और T-20 सिरीज में चैन के लिए उपलब्ध रहेंगे. धोनी के इस फैसले से इंडियन क्रिकेट फँस और धोनी के फँस को एक बड़ा धक्का लगा है. धोनी टेस्ट क्रिकेट से पहले ही संन्यास ले चुके है. कप्तान के तौरपर महेंद्र सिंह धोनी का करियर शानदार रहा है.

 

जानिए महेंद्र सिंह धोनीने ने क्यों छोड़ा अपना पद?

महेंद्र सिंह धोनी ने २०१९ में होने वाले वर्ल्ड के पहले अपना पद छोड़ा ताकि नए कप्तान को पूरा समय मिले. धोनी अपने खराब प्रदर्शन से भी दबाव में थे, इंग्लेंड के खिलाफ खराब खेलते तो इस्तीफे का दबाव बनता. इसके अलावा अश्विन, जडेजा भी सभी फॉर्मेट में कोहली को कप्तान बनाने के पक्ष में थे इसी वजह से धोनी खुद ही हट गए.

शानदार बैट्समैन

शुरुवात से अब तक कैसा रहा महेंद्र सिंह धोनी का करियर?

धोनी को दुनिया का बेस्ट फिनिशर कहा जाता है, और उनके अंदर सुजभुज, तुरंत फैसले लेनेकी काबिलियत भी है जो उन्हें दूसरो से लग रखती है. अपनी कप्तानी में धोनी ने भारत को T-20 वर्ल्डकप और ICC Cricket World Cup 2011 जिताया. बातें चल रही है की शायद अब धोनी का करियर ख़त्म हो गया और शायद धोनी को वर्ल्डकप के लिए भी नहीं चुना जाएगा और इसी वजह से खुद ही संन्यास लेने का फैसला लेंगे. लेकिन ऐसा कुछ नहीं बल्कि धोनी चाहते है की उनने संन्यास से पहले वो एक बार फिर भारत को वर्ल्डकप जीतता देखना चाहते है.

 

धोने के पद छोड़ने के बाद क्या बोले विराट कोहली?

ये बात भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने कही है.  विराट ने कहा की “धोनी के बारे में लोग कुछ भी बाते करे लेकिन धोनी २०१९ का वर्ल्डकप जरुर खेलेंगे, धोनी भारतीय क्रिकेट टीम के अभिन्न अंग है और वर्ल्डकप में जरुर खेलंगे.” कोहली ने आगे कहा की “धोनी युवाओं को मौका देना चाहते है, क्यों की धोनी जानते है की जो नए लडके टीम में खेलने आरहे है वो बोहत ही शानदार है जैसे की रुशभ पंत, धोनी खुद रुशभ पंत को टी-२० में ज्यादा से ज्यादा मौका देना चाहते है, रुशभ एक अच्छा खिलाड़ी है और वो ज़रुर धोनी की बात पर या हमारे विश्वास पर खरा उतरेगा.”

क्या है सच और क्या चाहते है धोनी?

कोहली के इस बयान से लगता है की उन्हें किसीने बाहर नहीं किया बल्कि धोनी खुद अपनी मर्ज़ी से बाहर निकले है, और धोनी फँस भले ही अब नाराज है लेकिन उनके लिए एक खुशखबर ये भी है की धोनी २०१९ में हो रहे वर्ल्डकप में जरुर खेलेंगे. २०१८ ये साल धोनी के लिए धोड़ा खराब रहा, साल २०१८ में धोनी के बल्ले से १९ मैचों में करीब २५ की औसत से २५२ रन बनाए है. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट भी केवल ६८.१० का ही रहा है. आज तक के उनके करियर का सबसे खराब स्ट्राइक रेट है.

शानदार कप्तान का करियर

  • दिसम्बर २००६ में इंटरनेशनल क्रिकेट में एंट्री.
  • २००७ में बने भारतीय वनडे टीम के कप्तान.
  • २००७ में ही बने टी-20 के कप्तान और वर्ल्डकप भी जिताया.
  • २००८ में बने टीम इंडिया के टेस्ट कप्तान.
  • २०११ में ICC world cup champion.
  • २०१३ champion trophy
  • धोनी ने बतौर कप्तान १९९ वनडे में कप्तानी की है.
  • जिसमे भारत ने ११० मैच जीते है और ७४ हारे है.
  • धोनी ने ७२ T-20 मैचों में भी भारत की कप्तानी की,
  • जिसमें से ४१ में टीम इंडिया को जित मिली और २८ में हार.
  • १२ साल से टीम इंडिया के हिस्सा रहें धोनी ने अपने हेलीकाप्टर शॉट से अपना दीवाना बना लिया.

 

आखिरी मैच में कोहली बना सकते हैं ‘विराट’ रिकॉर्ड, एक साथ 19 खिलाड़ियों को छोड़ देंगे पीछे!

डेली अपडेट के लिए हमारे Instagram अकाउंट को फॉलो करे – SachJaniye.Com

3 thoughts on “धोनी का करियर ख़त्म ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *