क्या 2000 के नोट बंद हो जाएंगे?

नोटबंदी को हुए दो साल से अधिक हो चुके हैं. क्या 2000 रुपए के नोट सर्कुलेशन से बाहर हो जाएंगे? 2000 के नोट को लेकर ऐसी बात सोशल मीडिया आदि पर लगातार की जा रही है. फाइनेंस मिनस्ट्री के एक ऑफिसर ने पीटीआई को बताया है कि इन नोटों की छपाई मिनिमम लेवल पर पहुंच गई है. ऑफिसर ने बताया कि नोट को लॉन्च करने के दौरान ही यह तय किया गया था कि इसकी प्रिंटिंग धीरे-धीरे कम की जाएगी. हालांकि सर्कुलशन में कमी का मतलब नोट का इनवैलिड होना नहीं होता है.

दी प्रिंट की रिपोर्ट मुताबिक, हाई रैंक सरकारी ऑफिसर ने बताया कि 2000 रुपए के नोटों की प्रिंटिंग बंद कर दी गई है. दी प्रिंट ने जब रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया से इस बाबत पूछा तो आरबीआई ने फिलहाल कोई जवाब नहीं दिया है.

यह Modi news भी पढ़ें :- Modi News / नरेंद्र मोदी और मनमोहन सिंह की विदेश यात्राओं की तुलना.

क्या २००० का नोट बंद हो जाएगा?

क्या नोट बंद हो जाएंगे?

2000 के नोटों को लेकर लोगों में इस बात की आशंका बनी रहती है कि इसका सर्कुलेशन बंद किया जा सकता है. भारत सरकार कई बार ऐसी किसी भी संभावना को नकार चुकी है. अगस्त 2017 में वित्त मंत्री अरुण जेटली से जब पूछा गया कि क्या सरकार इन्हें धीरे-धीरे बाहर करने पर विचार कर रही है, तो उन्होंने कहा, ‘नहीं, ऐसा कोई विचार नहीं चल रहा.’

डिपार्टमेंट ऑफ़ इकोनॉमिक अफेयर्स के सेक्रेटरी का ट्वीट देखिए.

“जरूरत के मुताबिक नोटों की छपाई की योजना बनती है. हमारे पास 2000 रुपए के पर्याप्त नोट हैं और सिस्टम में 2000 रुपए मूल्य के 35 फीसदी से अधिक नोट हैं. हाल में 2000 रुपए के प्रोडक्शन को लेकर कोई डिसीजन नहीं लिया गया है.”

यह Modi News भी पढ़ें : देश की सबसे तेज ट्रेन (T-18) को नरेंद्र मोदी दिखाएंगे हरी झंडी.

क्या २००० का नोट बंद हो जाएगा?

RTI रिपोर्ट

इंडिया टुडे ने अक्टूबर 2017 में RTI के तहत 2000 के नोटों को लेकर जानकारी मांगी. जवाब सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SPMCIL) से मिला जो भारत सरकार की कंपनी है. यह कंपनी करंसी नोटों को छापने के साथ सिक्कों को भी ढालती है. SPMCIL की ओर से मिले जवाब में बताया गया कि 2000 के करंसी नोटों को प्रिंट करने के लिए RBI की ओर से कोई मांग SPMCIL को नहीं भेजी गई है. आगे बताया गया कि मौजूदा समय में SPMCIL सिर्फ 500 और इससे कम मूल्य के नोट प्रिंट कर रही है.

इंडिया टुडे ने RTI के तहत नवंबर 2018 में फिर से जानकारी मांगी. अबकी जवाब मिला कि उपलब्ध रिकॉर्ड्स के मुताबिक, RBI ने करेंसी नोट प्रेस, नासिक को 2000 के नए नोटों को छापने का कोई ऑर्डर नहीं दिया, इसलिए वे प्रिंट नहीं किए गए.

यह Modi News भी पढ़ें : नरेंद्र मोदी और मनमोहन सिंह की विदेश यात्राओं की तुलना.

क्या २००० का नोट बंद हो जाएगा?

RBI रिपोर्ट

RBI की अगस्त 2018 में आई सालाना रिपोर्ट के मुताबिक 17-18 वित्तीय वर्ष में 2000 के सिर्फ 7.8 करोड़ नोट जोड़े गए. इनके सर्कुलेशन में भी कमी देखी गई है. मार्च 2017 में कुल नोटों के सर्कुलेशन में जहां 2000 के नोट करीब 50.2 फीसदी थे जो मार्च 2018 में घटकर 37.3 फीसदी पर पहुंच गए.

ऐसे में यह साफ है कि 2000 रुपये मूल्य के नए नोट नहीं छापे जा रहे हैं. लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि 2000 के नोट सर्कुलेशन से बाहर हो जाएंगे. अभी फिलहाल तो आपका गुलाबी नोट कागज़ का टुकड़ा बन कर रह जाए, ऐसा कोई ख़तरा नहीं है. लेकिन नज़र बनाए रखिएगा. क्या पता किसी दिन आपके टीवी से आवाज़ आए, मितरों……

One thought on “क्या 2000 के नोट बंद हो जाएंगे?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *